इंटरनेट हमारी ज़िन्दगी का अहम हिस्सा बन गया हैं। इसमें कोई दो-राय नहीं है कि इंटरनेट ने हम सभी के जीवन को बेहद सरल बनाया है चाहे वो कोई एक टेक-पेशेवर हो, डॉक्टर हो, रिसर्चर हो, वकील हो, शिक्षक हो या फिर एक आम विद्यार्थी हो। हलाकि इसका एक स्याह पक्ष भी हैं जिसका सम्बन्ध साइबर अपराध जगत से हैं। आज केवल गुरुग्राम की बात करें तो पिछले साल की अपेक्षा दो गुना से ज्यादा साइबर क्राइम हुए हैं जिनकी कुल संख्या 1923 हैं। साइबर अपराधों में हैकिंग, साइबर स्टाकिंग, साइबर डिफमेशन, साइबर बुलईंग, फिक्सिंग, विशिंग, ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड्स, जॉब स्कैम्स, डेबिट/क्रेडिट कार्ड क्लोनिंग्स, डाटा थेफ़्ट, स्पूफ़िंग, फोटो मॉर्फिंग जैसे अपराध शामिल हैं। साइबर अपराधों से बचने का सबसे आसान तरीका है कि ऑनलाइन दुनिया में आप सजग रहे और अपराधों के स्वरूपों के प्रति जागरूक रहे। और, अगर किसी भी वक़्त आप ऐसे अपराधों से दो-चार होते हैं तो उन्हें नज़रअंदाज करने के बजाय साइबर पुलिस को उसकी शिकायत करें। इस प्रकार हम साइबर अपराधों से सख्ती से निपट पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *